भोपाल। भोपाल में कोरोना संक्रमण के रोकथाम के लिए 'आगे आए जांच कराए - भोपाल को कोरोना मुक्त बनाए' का संदेश देते हुए आज फिर भोपाल से 58 व्यक्ति अपने घर रवाना हुए। शासकीय हमीदिया अस्पताल से 7, शासकीय होम्योपैथी अस्पताल से 4, पंडित खुशीलाल शासकीय आयुर्वेदिक अस्पताल से 1 और चिरायु अस्पताल से 46 व्यक्ति कोरोना संक्रमण से स्वस्थ हुए। इनमे से कटनी के 4, सागर और हरदा का एक एक व्यक्ति शामिल है। इन सभी ने शासन-प्रशासन के बेहतर प्रबंधन और उच्च स्तरीय स्वास्थ्य व्यवस्थाओं के लिए हार्दिक धन्यवाद दिया।
हमीदिया अस्पताल के डायरेक्टर अरूण कुमार श्रीवास्तव और चिरायु अस्पताल के डायरेक्टर अजय गोयनका ने आज डिस्चार्ज हुए सभी व्यक्तियों को उनके स्वस्थ होने पर बधाइयां दी। 7 दिवस होम क्वारंताइन और समय पर दवाइयां लेने की समझाइश दी। पुष्प, सैनिटाइजर, मास्क भेंट कर उन्हें शुभकामनाएं दी। उन्होंने आज डिस्चार्ज सभी व्यक्तियों से अपील की कि भोपाल को कोरोना मुक्त बनाने में अपना योगदान दे। मास्क लगाए, सैनिटाइजेशन करे, सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करें।  अच्छा खानपान रखें ताकि रोग प्रतिरोधक क्षमता बूस्ट हो सके। सर्दी, खांसी, जुकाम छींक, गले में दर्द जैसे लक्षणों की शिकायत होने पर तुरंत जिला प्रशासन द्वारा स्थापित फीवर क्लीनिक, संजीवनी अस्पताल सहित अन्य शासकीय अस्पतालों में अपनी जांच कराए।
भोपालवासियों में सर्दी, खांसी और बुखार के लक्षण वाले मरीजों के लिए संजीवनी क्लीनिक, शासकीय अस्पतालों  और उनके अधीनस्थ अस्पतालों में जांच और सैंपल कलेक्शन की सुविधा शुरू की गई है। भोपाल में सभी संजीवनी क्लीनिक और शासकीय स्वास्थ केंद्र सहित गांधी चिकित्सालय विश्वविद्यालय/ हमीदिया अस्पताल, गैस राहत  कस्तूरबा चिकित्सालय, रेलवे चिकित्सालय, ईएसआई चिकित्सालय , सिविल अस्पताल बैरागढ़ और उनके अधीनस्थ चिकित्सालयो में ई एल आई (influenza like illness) के पीड़ितों की जांच ,उपचार एवं सैंपल कलेक्शन निरंतर जारी है। आप भी अपनी जिम्मेदारी निभाएं, आगे आए और जांच कराए।