मुंगेर: लोकसभा चुनाव 2019  के लिए बिहार की मुंगेर लोकसभा सीट से नामांकन करने आए बसपा प्रत्याशी को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया. मोकामा से आई पुलिस और स्थानीय थाना के सहयोग से कुमार नवनीत हिंमाशु की गिरफ्तारी हुई. पुलिस को दो मामलों में उनकी तलाश थी. गिरफ्तारी के बाद प्रत्याशी के साथ आए समर्थकों में मायूसी छा गई. डीएसपी मो शिवली नोमानी ने बसपा प्रत्याशी की गिरफ्तारी की पुष्टि की.
 
मुंगेर सीट पर नामांकन का आज आखरी दिन था. मोकामा से पर्चा दाखिल करने आए बसपा प्रत्याशी कुमार नवनीत हिंमाशु को मोकामा से आई पुलिस ने स्थानीय पुलिस के मदद से गिरफ्तार कर लिया. पुलिस के मुताबिक, कुमार नवनीत हिमांशु उर्फ़ मोहित पासवान ने पटना जिले के मोकामा थाना अंतर्गत मोर गांव का निवासी है. वर्ष 2018 में मोकामा थानां कांड संख्या 280 /18 जिसमे लूटपाट और मारपीट का आरोप है. दहेज उत्पीड़न में वह फरार चल रहा था. अपने प्रत्याशी की गिरफ्तारी के बाद बसपा कार्यकर्ता काफी निराश हो गए. नामांकन के बाद पुलिस ने प्रत्याशी को माला तक नहीं पहनाने दिया.   

मुंगेर लोकसभा पर जेडीयू- कांग्रेस में टक्कर
मुंगेर सीट पर सबकी निगाहें हैं. यह सीट भी हाई प्रोफाइल सीट में शुमार हो गई है. मुंगेर लोकसभा क्षेत्र के अंतर्गत छह विधानसभा सीटें आती हैं: मुंगेर, जमालपुर, सूर्यागढ़, लखीसराय, मोकामा और बाढ़. मुंगेर सीट पर मुकाबला भी रोचक है. एनडीए के सीट बंटवारे में यह सीट जेडीयू के खाते में आई है. जेडीयू ने राजीव रंजन सिंह उर्फ ललन सिंह को मैदान में उतारा है. वहीं, यूपीए की ओर से कांग्रेस के खाते में आई इस सीट से बाहुबली अनंत सिंह की पत्नी नीलम देवी मोर्चा संभाले हुए हैं. 

 

2014 के लोकसभा चुनाव में यह सीट एलजेपी ने जीती थी. एलजेपी की प्रत्याशी वीणा देवी को यहां से जीत मिली थी. जेडीयू की ओर से राजीव रंजन सिंह ही मैदान में थे लेकिन उन्हें हार का सामना करना पड़ा था. पिछले चुनाव में बाहुबली अनंत सिंह (छोटे सरकार) ने ललन सिंह के वोट मांगे थे. लेकिन इस बार वहीं ललन सिंह अब उनकी पत्नी के खिलाफ चुनाव लड़ रहे हैं.