मध्य प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ ने एक बार फिर बीजेपी पर निशाना साधा है. कमलनाथ ने कहा कि बीजेपी सरकारी दवाईयों से लेकर पीएम आवास योजना तक में भगवा रंग को प्रचारित कर अपनी साख को बचाने का काम कर रही है. भगवा रंग किसी एक पार्टी की बपौती नही है. और इस पर कांग्रेस और पूरे देश का समान अधिकार है. ऐसे में चुनाव से पहले बीजेपी के भगवा रंग को प्रचारित करने से कोई फायदा नही होगा.

भोपाल में सामाजिक कार्यकर्ताओं और कई अन्य लोगों के कांग्रेस पार्टी में शामिल होने के मौके पर कमलनाथ ने मध्य प्रदेश में चुनाव और गठबंधन की स्थिति पर बातचीत की. चुनाव से पहले कांग्रेस के गठबंधन की सियासत को बसपा प्रमुख मायावती के झटके के बाद कमलनाथ ने सपा के साथ जाने की तैयारी कर ली है.

अब दवाईयों का भगवाकरण! कांग्रेस करेगी चुनाव आयोग में शिकायत

कमलनाथ ने कहा है कि बसपा से भी गठबंधन को लेकर अभी चर्चा जारी है. लेकिन सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव से एमपी चुनाव को लेकर गठबंधन पर चर्चा हुई है. कमलनाथ ने कहा है कि कांग्रेस पार्टी और भी दूसरे दलों को अपने साथ में लाने की कोशिश कर रही है. गौरतलब है कि बसपा प्रमुख मायावती ने प्रदेश की सभी 230 विधानसभा सीटों पर अकेले अपने दम पर चुनाव लड़ने का एलान कर कांग्रेस के गठबंधन की कोशिशों को बड़ा झटका दिया है.


बता दें कि कांग्रेस भारतीय जनऔषधी परियोजना के तहत बांटी जा रही दवाईयों की चुनाव आयोग में शिकायत करने की तैयारी में है. कांग्रेस का आरोप है कि बीजेपी दवाईयों का भगवाकरण कर अपना प्रचार प्रसार कर रही है.