नई दिल्ली,  प्रधानमंत्री कार्यालय की ओर से सोमवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की चल-अचल संपत्ति का ब्योरा जारी किया गया. मौजूदा समय में उनके पास करीब 2.28 करोड़ रुपये की संपत्ति है. जबकि 2014 के लोकसभा चुनाव में करीढ़ डेढ़ करोड़ की संपत्ति थी. अब चार साल के बाद मोदी की संपत्ति में करीब 75 लाख रुपये की बढ़ोतरी हुई है.

2014 में लोकसभा चुनाव के दौरान प्रत्याशी के तौर पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अपने हलफनामे में संपत्ति का ब्योरा दायर किया था. उस आधार पर 2014 और 2018 में प्रधानमंत्री की संपत्ति में कितना अंतर आया है यहां समझें...

- 2014 में मोदी के पास कुल चल-अचल संपत्ति 1 करोड़ 51 लाख 57 हजार 582 रुपये की थी. आज 2018 में करीब 2.28 करोड़ रुपये हैं.

- 2014 में मोदी के पास कैश 29 हजार रुपये था. आज 2018 में मोदी के पास कैश 48 हजार 944 रुपये है.

- 2014 में पोस्टल सेविंग में 4,34,031 रुपये था. आज 2018 में SBI बैंक में कुल 11,29,690 रुपये जमा हैं.

- 2014 में फिक्स डिपोजिट 44,23,383 रुपये था. आज 2018 में 1,07,96,288 डिपोजिट है.

- 2014 में इंफ्रास्ट्रक्चर बॉन्ड डिपॉजिट 20 हजार रुपये की थी. आज 2018 में भी 20 हजार रुपये ही हैं.

- 2014 में गोल्ड ज्वैलरी 1 लाख 35 हजार की थी. आज 2018 में 1 लाख 38 हजार रुपये की है.

- 2014 में ब्याज के रूप में रिफंड आया कुल 1,15,468 रुपये. आज 2018 में 1,59,281 रुपए LIC के रूप में है.

प्रधानमंत्री के नाम पर कोई भी दुपहिया, फोर व्हीलर वाहन रजिस्टर्ड नहीं है. जब से मोदी ने प्रधानमंत्री का पद संभाला है तब से उन्होंने कोई नया सोना नहीं खरीदा है.

अगर प्रधानमंत्री की कुल चल-अचल संपत्ति की बात करें तो ये लगभग 2.28 करोड़ रुपये की है. इसमें लगभग एक करोड़ 28 लाख रुपये की चल और गांधीनगर में कुछ अचल संपत्ति है. प्रधानमंत्री ने 2002 में एक लाख रुपये की कीमत से 3531.45 स्क्वायर फीट की संपत्ति भी खरीदी थी.