नई दिल्ली: बॉलीवुड के सुपरस्टार शाहरुख खान सभी धर्मों का खुलकर आदर-सम्मान करते हैं. हाल ही में जब यह एक्टर अपने घर में गणेश चतुर्थी के मौके पर गणपति की प्रतिमा घर लेकर आया तो कथित धार्मिक ठेकेदारों ने उनको कोसना शुरू कर दिया. इससे पहले जन्माष्टमी पर दही हांडी फोड़ने पर शाहरुख के खिलाफ फतवा तक जारी कर दिया गया था.

दरअसल, भगवान गणेश की मूर्ति के सामने प्रार्थना करते हुए शाहरुख ने अपने छोटे बेटे अबराम की एक तस्वीर सोशल मीडिया पर शेयर करते हुए लिखा, "हमारा गणपति 'पप्पा' घर में है, क्योंकि लिल उन्हें बुलाता है. शाहरुख की यह पोस्ट कई 'धार्मिक ठेकेदारों' को रास नहीं आई और उन्होंने खान को ट्रोल करना शुरू कर दिया. एक ने लिखा, "यह गलत है, आप एक मुस्लिम हैं, तो गणपति दिवस क्यों मनाते हैं?"

इसके अलावा खान से पूछा कि क्या उनके लिए एक मूर्ति की पूजा करना सही था. हालांकि, कुछ यूजर्स ने लिखा कि धर्म का बटवारा करने के बजाय, हमें शाहरुख खान के इशारे की सराहना करनी चाहिए क्योंकि यह भारत सेकुलर देश है.
भड़के उलेमाओं ने जारी किया था फतवा
इससे पहले शाहरुख खान ने मुंबई में अपने घर 'मन्नत' में पत्नी गौरी, बेटे अबराम और फैन्स के साथ दही हांडी फोड़ी. इस कार्यक्रम की तस्वीरें  ट्विटर पर शेयर करने के बाद उलेमाओं ने उनके खिलाफ फतवा जारी कर दिया था. उलेमाओं ने इसे शरीयत में नाजायज और इस्लाम में हराम करार दिया था. शाहरुख खान के ऐसा करने पर फतवा ऑन मोबाइल सर्विस के चेयरमैन मुफती अरशद फारुकी ने कहा था कि वह एक सेलिब्रिटी हैं, इसलिए उन्हें ध्यान रखना चाहिए कि वे किस धर्म के त्यौहार को किस तरह से मनाएं. फारुखी ने कहा, दूसरे धर्म के त्यौहार में शामिल होना दूसरी बात है, लेकिन गैर-इस्लामिक त्यौहार को अपने घर पर मनाना और उस धर्म की परंपरा का आयोजन करना इस्लाम में सही नहीं है.
बच्चे गायत्री मंत्र पढ़ते हैं
बॉलीवुड के दिग्गज एक्टर शाहरुख खान के बच्चे सभी धर्मों का आदर करते हैं, वे गायत्री मंत्र भी पढ़ते हैं और समान विश्वास और उत्साह के साथ नमाज की पेशकश भी करते हैं. 2005 में आई एक डॉक्यूमेंट्री 'इनर एंड ऑउटर वर्ल्ड' में शाहरुख ने बताया था, "बच्चों को भगवान के मूल्य के बारे में पता होना चाहिए, भले ही वह एक हिंदू भगवान हो या मुस्लिम भगवान हो. वहीं, गणेशजी और लक्ष्मीजी के साथ हमारे पास कुरान भी है. मेरे बच्चे अपने हाथों को एक साथ रखकर गायत्री मंत्र पढ़ते हैं और मैं बिसमिल्लाह करता हूं.''