काबुल: तालिबान अफगानिस्तान में संघर्ष समाप्ति के मुद्दे पर अमेरिकी प्रतिनिधिमंडल के साथ वार्ता के लिए अपने प्रतिनिधिमंडल को भेजने की तैयारी कर रहा है.  बैठक में कैदियों की अदला-बदली पर विचार होने की संभावना है.  इस प्रक्रिया से जुड़े दो अधिकारियों ने मंगलवार को यह जानकारी दी. अधिकारियों ने नाम उजागर न करने की शर्त पर टोलो न्यूज से कहा कि तालिबान नेता बैठक में तीन व चार लोगों के प्रतिनिधिमंडल को तैयार करने पर चर्चा कर रहे हैं. उन्होंने कहा कि तालिबान कैदियों की अदला-बदली पर चर्चा करना चाहेगा और अगर अमेरिका ने कैदियों को रिहा करने के मामले में गंभीरता दिखाई तो तालिबान एक और बैठक आयोजित कर सकता है.

प्रक्रिया में शामिल एक अधिकारी ने समाचार चैनल से कहा, "यह बैठक भविष्य की वार्ता का निर्धारण करेगी और हम देखेंगे कि क्या अमेरिका वार्ता को लेकर गंभीर है. " उन्होंने कहा, "हम उन्हें अफगानिस्तान की जेलों में बंद कैदियों की सूची सौपेंगे.  अगर वे हमारे कैदियों को रिहा करेंगे तो हम एक और बड़ी वजह को लेकर दोबारा मुलाकात करेंगे. "
काबुल: तालिबान आतंकवादियों ने अफगान सुरक्षा बलों को बनाया निशाना, 29 लोगों की मौत
तालिबान आतंकवादियों ने देश के उत्तरी हिस्से में अलग-अलग हमले कर अफगान सुरक्षा बलों को निशाना बनाया जिसमे कम से कम 37 लोगों की मौत हो गई. कुंदुज़ प्रान्त में प्रांतीय परिषद के प्रमुख मोहम्मद युसूफ अयूब ने बताया कि दश्ती आर्ची जिले में एक सुरक्षा नाके पर हुए हमले में सुरक्षा बल के कम से कम 13 कर्मी मारे गए और अन्य 15 लोग घायल हो गए. गोलीबारी रविवार देर रात शुरू हुई जो सोमवार सुबह तक जारी रही. इस बीच, जोजजान प्रान्त के प्रांतीय पुलिस प्रमुख जनरल मोहम्मद जवाजानी ने बताया कि तालिबान ने खामियाब जिले में विभिन्न दिशाओं से हमला किया.इसके चलते अफगान बलों को जिला मुख्यालय खाली करना पड़ा ताकि कोई नागरिक हताहत नहीं हो.  उन्होंने बताया कि दोनों ओर से हुयी गोलीबारी में कम से कम आठ पुलिसकर्मी मारे गए और तीन घायल हो गए. मुठभेड़ में तालिबान के सात सदस्य भी मारे गए.