SC/ST (प्रिवेंशन ऑफ एट्रोसिटी) एक्ट, 1989 के विरोध में हुए सवर्ण आंदोलन के तुरंत बाद सक्रिय हुई कांग्रेस के बाद अब बीजेपी ने भी सवर्णों को साधने का प्लान बना लिया है. बीजेपी ने तय किया है कि सवर्णों से बातकर उनकी नाराजगी दूर की जाएगी. इस मामले में बीजेपी के संगठन मंत्री पदाधिकारियों के साथ बैठक कर सकते हैं.

दरअसल, अनुसूचित जाति एवं अनुसूचित जनजाति (अत्याचार निरोधक) अधिनियम, 1989 के विरोध में हुए आंदोलन के दौरान मध्य प्रदेश सहित पूरे देश में किसी भी बड़े नेता का कोई बयान सामने नहीं आया था लेकिन इसके बाद अब धीरे-धीरे नेताओं के बयान सामने आने लगे हैं. पहले प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ ने कहा कि हम सवर्णों की नाराजगी दूर करेंगे. इसके बाद अब बीजेपी ने भी सवर्णों की नाराजगी दूर करने का प्लान तैयार किया है.

इसके संबंध में भोपाल में होने वाली बैठक में संगठन महामंत्री समेत कई बड़े नेता मध्य प्रदेश में हुए आंदोलन की समीक्षा करेंगे. SC/ST एक्ट में संशोधन के विरोध को लेकर पार्टी पदाधिकारी अपना फीडबैक भी देंगे. इस मामले में बीजेपी सांसद आलोक संजर ने कहा कि सवर्णों की नाराजगी को दूर किया जाएगा. उन्होंने कहा कि एक्ट को लेकर सवर्णों की चिंता और नाराजगी दूर करने के लिए पार्टी नेता सक्रिय होंगे. इसके लिए पार्टी स्तर पर रणनीति बनाई जा रही है.

बता दें कि इससे पहले मध्य प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष कमलनाथ ने भी इस मामले में बड़ा बयान दिया है. उन्होंने कहा कि हम सवर्णों को मनाएंगे, हम चाहते हैं कि सबके साथ न्याय हो. कांग्रेस किसी के साथ अन्याय नहीं होने देगी.

कमलनाथ ने कहा कि जहां एक्ट का दुरुपयोग हुआ है, कांग्रेस उसका विरोध करती है. हमारा प्रयास सवर्णों को मनाने का है. पार्टी चाहती है कि सबसे साथ न्याय हो. कांग्रेस किसी के साथ अन्याय नहीं होने देना चाहती.