कहते हैं कि जोड़ियां ऊपर से बनकर आती हैं। भगवान हर जोड़ी के लिए सब कुछ पहले से ही तय कर देता है। ऐसा ही नजारा सोमवार को रानीबाग क्षेत्र के प्रज्ञानगर कॉलोनी में देखने को मिला। 34 इंच के दूल्हे ने 33 इंच की दुल्हन की मांग भरी। शादी देखने के लिए लोगों का तांता लगा रहा। 


खजनी थानाक्षेत्र के विशुनपुरा गांव के रहने वाले विश्वनाथ पाठक के बेटे सुनील पाठक की लंबाई जन्म के बाद कुछ समय तक बढ़ी लेकिन एक अवस्था के बाद उनकी लंबाई रुक गयी। सुनील ने अपनी लम्बाई को लेकर कभी हार नहीं मानी। उन्होंने मन लगाकर पढ़ाई की। संस्कृत से पीएचडी करके मानद उपाधि ली। उन्हें ज्योतिष की भी अच्छी जानकारी है।


सुनील की उम्र लगभग 42 वर्ष हो चुकी है। पहले सुनील शादी को तैयार नहीं थे लेकिन अब उन्हें अपने जीवनसंगिनी के रूप में अपने ही शहर के रुस्तमपुर इलाके की रहने वाली सारिका मिश्र मिल गई हैं। सारिका की उम्र लगभग 36 वर्ष है और लंबाई महज 33 इंच। इस तरह से रब ने दोनों की जोड़ी बना दी है। सारिका के पिता भगवती प्रसाद मिश्र अब इस दुनिया में नहीं है। उनकी मां ऊषा देवी सारिका की शादी को लेकर काफी चिंतित रहती थीं। शादी के हो जाने पर अब वह चिंतामुक्त हो गई हैं। सोमवार कों दोनों दाम्पत्य जीवन में बंध गए। लड़की वालों ने भी बारातियों का दिल खोलकर स्वागत किया।