प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी किसानों की आय बढ़ाने सहित कृषि क्षेत्र से जुड़े विभिन्न मुद्दों पर आज किसानों से वीडियो कान्फ्रेंस के जरिये सीधे बातचीत करेंगे. पीएम ये बातचीत नमो ऐप के जरिए करेंगे. इस दौरान वह कृषि क्षेत्र की बेहतरी के लिये सरकार द्वारा की गई पहलों के बारे में भी बतायेंगे. गौरतलब है कि मोदी सरकार की ओर से 2022 तक किसानों की आय दोगुनी करने का वादा किया गया है, ऐसे में पीएम मोदी किसानों को क्या संदेश देते हैं ये देखना होगा.

मोदी सरकार के केन्द्र की सत्ता में चार साल पूरे होने पर समाज के विभिन्न वर्गों के साथ बातचीत का सिलसिला शुरू किया गया है. किसानों के साथ होने वाला यह संवाद इस कड़ी में छठा संवाद होगा. प्रधानमंत्री कार्यालय से जारी एक वक्तव्य में कहा गया है, ‘‘इस बातचीत में सीधे किसानों से उनकी बात सुनने का अवसर मिलेगा. किसानों की आय दोगुनी करने के लिये की गई पहलों पर भी विचार विमर्श हो सकता है,’’

उल्लेखनीय है कि विपक्षी दल किसानों की रिणग्रस्तता, उनके उत्पाद का उचित मूल्य न मिलने और गन्ना किसानों के बकाये को लेकर सरकार की आलोचना कर रहे हैं.

आपको बता दें कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी इससे पहले भी नमो ऐप के जरिए उज्जवला योजना, मुद्रा योजना, स्किल इंडिया समेत कई अन्य योजनाओं के लाभार्थियों से बात कर चुके हैं. कर्नाटक विधानसभा चुनाव के दौरान भी पीएम मोदी ने वहां के कार्यकर्ताओं से नमो ऐप के जरिए ही बात की थी.

नमो ऐप का भरपूर प्रयोग

प्रधानमंत्री मोदी ने 17 जून 2017 को नमो ऐप लॉन्च किया था. शुरुआत में सबको लगा कि इस ऐप से सरकार की उपलब्धियों, योजनाओं की जानकारी या प्रधानमंत्री के कार्यक्रमों की जानकारी ली जा सकती है. साथ ही इस ऐप के जरिए पीएम मोदी को सीधे संदेश भी दिया जा सकता है और सरकार के कामकाज के बारे में फीडबैक भी, लेकिन किसी को इस बात का अंदाजा नहीं था कि पीएम मोदी इस ऐप से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए आम लोगों से सीधे संवाद भी कर सकते हैं. अब पीएम ने ऐप के जरिए ही सांसदों-विधायकों का फीडबैक भी मांग लिया.