वर्ष 2018 का पहला सूर्यग्रहण भारत में नहीं दिखेगा। भारतीय समय के मुताबिक यह ग्रहण 15 फरवरी की रात 12 बजकर 25 मिनट पर शुरू होगा और 16 फरवरी की सुबह 4 बजे इसका मोक्ष होगा। ये सूर्य ग्रहण कुंभ राशि और धनिष्‍टा नक्षत्र में पड़ेगा। ये साल 2018 का दूसरा ग्रहण है परंतु पहला सूर्य ग्रहण है। हांलाकि ये सूर्य ग्रहण भारत में दिखाई नहीं देगा क्योंकि इसका असर आंशिक है। इसके बाद अगला सूर्यग्रहण इसी साल 11 अगस्‍त को देखने को मिलेगा और उसको भी भारत में नहीं देखा जा सकेगा। 




सूर्य ग्रहण का प्रभाव 


पंडित आचार्य पंडित दीपक पांडे ने बताया है कि सूर्य ग्रहण का प्रभाव संजीव एवम् र्निजीव समस्‍त भूमंडल यानि समस्‍त सृष्‍टि पर पड़ता है। इसक प्रभाव अगले ग्रहण तक शुभ और अशुभ फल के रूप में देखे जाते हैं। जिस राशि नक्षत्र पर ग्रहण होता है उन पर इसका विशेष हानिकारक प्रभाव होता है अर्थात कुंभ राशि वालों के लिए उत्‍तम नहीं रहेगा। हालांकि ये सूर्य ग्रहण भारत में दिखाई नहीं देगा इसलिए इसका कोई धार्मिक महत्‍व नहीं है, लेकिन इसका विभिन्‍न राशियों पर प्रभाव अवश्‍य पड़ेगा।


राशियों पर प्रभाव


मेष राशि: शुभ, मांगलिक कार्यों का योग बनेगा। 


वृष राशि: नौकरी या व्‍यवसाय बदलने का योग बनेगा, और सम्‍मान की प्राप्‍ति होगी।


मिथुन राशि: वैदेशिक मामलों में सफलता मिलेगी।


कर्क राशि: यश और सम्‍मान में वृद्धि होगी।


सिंह राशि: विदेशी कंपनियों से लाभ मिल सकता है।


कन्‍या राशि: वेतन वृद्धि के अवसर आयेंगे। 


तुला राशि: घर में मांगलिक कार्यों का योग बन सकता है। 


वृश्‍चिक राशि: घरेलू मामलों में परेशानी की संभावना।


धनु राशि: बॉस और अन्‍य उच्‍च अधिकारियों से प्रशंसा मिलेगी। 


मकर राशि: यदि धन निवेश की योजना बना रहे हैं तो दीर्घकालिक समय के लिए बनायें, फायदे में रहेंगे। 


कुंभ राशि: सावधान रहें नौकरी या व्‍यापार पर दुष्‍प्रभाव पड़ सकता है, इनसे हाथ भी धोना पड़ सकता है। 


मीन राशि: यश, सम्‍मान, धन और नौकरी की प्राप्‍ति हो सकती है।