नई दिल्ली दिल्ली-एनसीआर में मोबाइल चोरी होना यूं तो आम बात है, लेकिन उसका वापस मिलना किसी आश्चर्य से कम नहीं है. दिल्ली के एक व्यापारी के साथ कुछ ऐसा ही हुआ. गुड़गांव के मेदांता अस्पताल अपने पिता का इलाज कर रहे इस व्यापारी का मोबाइल कैफेटेरिया से चोरी हो गया. फोन करने पर पता चला कि स्वीच ऑफ है.


व्यापारी ने आनन-फानन में अस्पताल के सिक्योरिटी अफसर से संपर्क किया. सीसीटीवी जब खंगाला गया, तो उसमें मोबाइल चोरी करता हुआ एक शख्स दिख गया. करीब छह घंटे की मशक्कत के बाद सिक्टोरिटी टीम ने मोबाइल चोर को ट्रैक कर लिया. वह यूपी की वाराणसी में था. उससे फोन करके मोबाइल वापस करने की बात कही गई.


चोरी पकड़े जाने की बात समझ में आते ही चोर ने मोबाइल वापस करने में ही भलाई समझी. उसने कोरियर करके व्यापारी को उसका मोबाइल फोन वापस कर दिया. इस पर खुशी जताते हुए व्यापारी ने कहा, 'रोजाना सैकड़ों मोबाइल फोन चोरी होते हैं, लेकिन मेरा वापस मिल गया. मैं इस वक्त खुद को बहुत भाग्यशाली समझ रहा हूं.'


उन्होंने बताया, 'मैं अपने पिता की सर्जरी के लिए मेदांता अस्पताल में मौजूद था. अपने भाई के साथ मैं कैफेटेरिया गया. वहां हम एक टेबल पर बैठे थे. इस बीच एक बड़ी टेबल खाली हुई. हम अपना सामान लेकर वहां बैठ गए. इसी दौरान मेरा मोबाइल फोन फाइलों के बीच उलझ कर टेबल पर ही छूट गया. वापस जाकर देखा, तो गायब था.'


व्यापारी ने अपने भाई के फोन से अपने नंबर पर फोन किया तो बंद मिला. इसके बाद अस्पताल प्रशासन और सिक्योरिटी स्टॉफ ने सीसीटीवी फुटेज खंगाला. व्यापारी के बगल में बैठा एक शख्स फोन चोरी करते दिख गया. इसके बाद करीब 6 घंटे के अंदर चोर को ट्रैक कर लिया गया. उससे फोन करके मोबाइल वापस करने की बात कही गई.


मेदांता अस्पताल के सिक्टोरिटी अफसर बिरेश्वर त्यागी ने बताया कि इस घटना की सूचना मिलते ही हमारी टीम सक्रिय हो गई. हमने सीसीटीवी फुटेज के जरिए चोर को ट्रैक कर लिया. वह भी अपने एक मरीज को देखने के लिए अस्पताल आया हुआ था. उसने कूरियर करके मोबाइल फोन वापस कर दिया है. हालांकि, सभी डाटा नष्ट हो चुके हैं.