पटना। 'एसोसिएशन फॉर डेमोक्रैटिक रिफॉर्म', एडीआर ने देश के 31 मुख्यमंत्रियों से संबंधित एक रिपोर्ट जारी की है, जिसमें इन मुख्यमंत्रियों पर दर्ज क्रिमिनल केस और सभी राज्यों के मुख्यमंत्रियों की संपत्ति का ब्यौरा दिया गया है। इस रिपोर्ट में खुलासा किया गया है कि देश के 11 मुख्यमंत्रियों के खिलाफ क्रिमिनल केस चल रहे हैं।


एडीआर की इस रिपोर्ट के मुताबिक देश के अधिकतर मुख्यमंत्री करोड़पति हैं, जिनमें बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार एडीआर की सूची में 22वें पायदान पर हैं। नीतीश कुमार के पास करीब एक करोड़ 71 लाख 29 हजार 264 रुपये की संपत्ति है, जिसमें चल संपत्ति 84 लाख 18 हजार पांच सौ 95 रुपये की है। वहीं, अचल संपत्ति 87 लाख 10 हजार 669 रुपये की है।


इसके साथ ही आंध्र प्रदेश के सीएम चंद्राबाबू नायडू 177 करोड़ रुपये की संपत्ति के साथ पहले नंबर पर हैं और त्रिपुरा के सीएम माणिक सरकार सबसे गरीब मुख्यमंत्री बताए गए हैं। वे करोड़पति नहीं बल्कि उनके पास मात्र 26 लाख रुपये की संपत्ति है।

मुख्यमंत्रियों की संपत्ति के साथ-साथ एडीआर ने देश के कुछ सीएम पर दर्ज आपराधिक मामलों का भी जिक्र किया है। इसमें 31 मुख्यमंत्रियों में से 11 के ऊपर आपराधिक मामले दर्ज हैं। जिसमें बिहार के सीएम नीतीश कुमार पर भी एक मामला दर्ज है, जो आपराधिक है। एडीआर ने यह रिपोर्ट चुनाव के दौरान इन मुख्यमंत्रियों के द्वारा दिए गए हलफनामे के आधार पर तैयार किया है।


रिपोर्ट के मुताबिक महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस के खिलाफ सबसे ज़्यादा 22 क्रिमनल केस दर्ज हैं, तो वहीं बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और जम्मू-कश्मीर की मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती के खिलाफ मात्र एक-एक केस दर्ज हैं।