Friday, 29 May 2020, 3:41 PM
ई-पेपर ई-मैगज़ीन

वैज्ञानिक बनने की चाह

Updated on 29 May, 2020, 6:00
किसी समय लंदन की एक बस्ती में एक अनाथ बालक रहता था। वह अखबार बेचकर किसी तरह अपना गुजारा करता... आगे पढ़े

प्रतिभा और ज्ञान 

Updated on 24 May, 2020, 6:00
एक संत को जंगल में एक नवजात शिशु मिला। वह उसे अपने घर जे आए। उन्होंने उसका नाम जीवक रखा।... आगे पढ़े

 संकल्प और साहस  

Updated on 23 May, 2020, 6:00
खेल की कक्षा शुरू हुई तो एक दुबली-पतली अपंग लड़की किसी तरह अपनी जगह से उठी। वह खेलों के प्रति... आगे पढ़े

चिंतन सही हो 

Updated on 19 May, 2020, 6:00
एक व्यक्ति ने अपने मित्र से साठ रूपए उधार लिए। कुछ दिनों बाद वह आया और बीस रूपए देकर बोला,... आगे पढ़े

 धर्म का अर्थ

Updated on 18 May, 2020, 6:00
किसी संत के पास एक युवक आया और उसने उनसे धर्म ज्ञान देने की प्रार्थना की। संत ने कहा कि... आगे पढ़े

आत्मज्ञान के लिए पात्रता

Updated on 17 May, 2020, 6:00
एक बार की बात है। एक धनिक सेठ एक पहुंचे हुए संत के पास पहुंचा और उनसे बोला, 'महाराज, मैं... आगे पढ़े

हम असंतुष्ट रहेंगे तो जीवन में अशांति बनी रहेगी और हम कभी भी सुखी नहीं हो सकते

Updated on 16 May, 2020, 6:45
जो लोग अपने जीवन से असंतुष्ट रहते हैं, उनका मन कभी भी शांत नहीं हो सकता है। सुख-शांति पाना चाहते... आगे पढ़े

 दूसरे की गलती

Updated on 15 May, 2020, 6:00
एक बार गुरु श्यामानंद ने अपने चार शिष्यों को एक पाठ पढ़ाया। पढ़ाने के बाद वह अपने शिष्यों से बोले,... आगे पढ़े

 संत का धन

Updated on 14 May, 2020, 6:00
उन दिनों विजय नगर में संत पुरंदर की ख्याति बढ़ती ही जा रही थी। हर प्रकार के मोह-माया से मुक्त... आगे पढ़े

श्रम रहित परिश्रम

Updated on 13 May, 2020, 6:00
महर्षि वेदव्यास किसी नगर से गुजर रहे थे। उन्होंने एक कीड़े को तेजी से भागते हुए देखा। मन में सवाल... आगे पढ़े

दृष्टि में सब रखें

Updated on 12 May, 2020, 6:00
एक व्यक्ति ने कहा, 'सर्दी लग रही है। ठिठुर रहा हूं।' दूसरे ने कहा, 'जाओ, कपड़ा ओढ़ लो।' वह घर... आगे पढ़े

वर्तमान में जिएं

Updated on 11 May, 2020, 6:00
मुनि ने सेठ की पुत्रवधू से पूछा, 'श्वसुरजी कहां हैं? उसने कहा, 'जूते की दुकान पर गए हैं।' श्वसुर उस... आगे पढ़े

काम में तल्लीनता

Updated on 10 May, 2020, 6:00
एक साधक से पूछा गया-आप साधना करते हैं? उसने कहा, 'जब भूख लगती है, तब खा लेता हूं और जब... आगे पढ़े

दौलत की चाह

Updated on 7 May, 2020, 6:00
संत जुनैद की एक झलक पाने और उनसे ज्ञान की बातें सुनने के लिए लोग बेकरार रहते थे। पर जुनैद... आगे पढ़े

 नफरत का बोझ

Updated on 6 May, 2020, 6:00
बहुत पुरानी कथा है। एक बार एक गुरु ने अपने सभी शिष्यों से अनुरोध किया कि वे कल प्रवचन में... आगे पढ़े

अपना दृष्टिकोण

Updated on 5 May, 2020, 6:00
एक कन्या ने अपने पिता से कहा, 'मैं किसी पुरातत्वविद् से विवाह करना चाहती हूं।'  पिता ने पूछा, 'क्यों?' कन्या... आगे पढ़े

संत की उदारता

Updated on 4 May, 2020, 6:00
संत बेनजोई के पास कई बालक शिक्षा ग्रहण करने के लिए आते थे। वह अपने सभी शिष्यों की शिक्षा पूर्ण... आगे पढ़े

राजा की उदारता

Updated on 3 May, 2020, 6:00
राजा भोज के नगर में एक विद्वान ब्राह्यण रहते थे। एक दिन गरीबी से परेशान होकर उन्होंने राजभवन में चोरी... आगे पढ़े

आत्मबल के लिए

Updated on 2 May, 2020, 6:00
एक गरीब बुढ़िया थी। अपनी झोपड़ी में अकेली रहती थी। उसके पास एक गाय थी। बस उसी के सहारे वह... आगे पढ़े

विनम्रता का पाठ 

Updated on 1 May, 2020, 6:00
पंडित विद्याभूषण बहुत बड़े विद्वान थे। दूर-दूर तक उनकी चर्चा होती थी। उनके पड़ोस में एक अशिक्षित व्यक्ति रहते थे-रामसेवक।... आगे पढ़े

धन का भार

Updated on 29 April, 2020, 6:00
पाटलिपुत्र में नाभिकुमार की गिनती सबसे संपन्न लोगों में होती थी। लेकिन अपार धन-संपत्ति होते हुए भी उन्होंने कभी दान... आगे पढ़े

रजा का खजाना

Updated on 28 April, 2020, 6:00
फारस के शासक साइरस अपनी प्रजा की भलाई में जुटे रहते थे। लेकिन खुद उनका जीवन सादगी से भरा था।... आगे पढ़े

मृत्यु का अर्थ

Updated on 22 April, 2020, 6:00
मृत्यु एक शात सत्य है। यह अनुभूति प्रत्यक्ष प्रमाणित है, फिर भी इसके संबंध में कोई दर्शन नहीं है। अब... आगे पढ़े

सबसे अच्छा सखा है ज्ञान 

Updated on 21 April, 2020, 6:00
आत्मा ही आनन्द का स्वरूप है। किसी भी सुखद अनुभूति में तुम आंखे मूंद लेते हो। जैसे जब किसी फूल... आगे पढ़े

भौतिकवाद से उपजी दुर्गति

Updated on 20 April, 2020, 6:00
ऊंचा महल खड़ा करने के लिए किसी दूसरी जगह गड्ढे बनाने पड़ते हैं। मिट्टी, पत्थर, चूना आदि जमीन को खोदकर... आगे पढ़े

अहंकार से ज्ञान का नाश

Updated on 19 April, 2020, 6:00
अहंकार से मनुष्य की बुद्धि नष्ट हो जाती है। अहंकार से ज्ञान का नाश हो जाता है। अहंकार होने से... आगे पढ़े

सुखी जीवन के तीन सूत्र 

Updated on 18 April, 2020, 6:00
सुखी, स्वाभिमान एवं सम्मान के साथ जीवन जीने के तीन सूत्र हैं- उपयोगिता, भावना एवं कर्तव्य। उपयोगिता संबंधों को प्रगाढ़... आगे पढ़े

प्रेम और सहयोग का नाम है परिवार

Updated on 17 April, 2020, 6:00
पारिवारिक सदस्यों के त्याग, सहयोग, स्वच्छता, प्रेम, संतुष्टि व व्यसनमुक्ति से ही परिवार संयुक्त और समृद्घिशाली बनता है। वे सौभाग्यशाली... आगे पढ़े

 संयम से जीवन की उन्नति 

Updated on 16 April, 2020, 6:00
कार्तिय माहात्म्य प्रवचनों में पं. रामनिवास ब्रजवासी जी ने कहा शरद ऋतु में की जाने वाली उपासनाओं से जहाँ चंद्र... आगे पढ़े

वीरत्व की अलंकृति है क्षमा

Updated on 15 April, 2020, 6:00
क्षमा वीरत्व की अलंकृति है। दुर्बल और विवश व्यक्ति द्वारा उद्गीत क्षमा का माहात्म्य उतना प्रखर नहीं हो सकता। ज्ञान... आगे पढ़े